ब्राह्मणवाद और पितृसत्ता की ‘लुक्का-छिपी’

Aarti Rani

आरती रानी प्रजापति (Aarti Rani Prajapati) माना जाता है कि फिल्में समाज का आईना होती हैं, जैसा समाज वैसी फिल्म। बदलते समाज के साथ फिल्मों ने भी बदलना शुरू किया है। समाज में ब्राह्मणवाद और पितृसत्ता दोनों ने रूप बदला है। इन दोनों को चुनौती देते दलित और महिला वर्ग उभरकर सामने आ रहे हैं। […]