aksc 1
0 0
Read Time:5 Minute, 27 Second

अंबेडकर किंग स्टडी सर्कल

अंबेडकर किंग स्टडी सर्कल (AKSC) द्वारा कैलिफोर्निया (यू.एस.ए) में आयोजित कार्यशाला, “फासीवाद क्या है और उसका सामना कैसे करें?”

 aksc 1

फासीवाद को चुनौती देने के लिये, मज़दूर वर्ग को, ऐतिहासिक संदर्भ में,  सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों के बारे में स्पष्ट और गहन समझ होनी चाहिये।  शनिवार फरवरी 23 के दिन, सॅन होसे (San Jose) कॅलिफ़ोर्निया में, अंबेडकर किंग स्टडी सर्कल (AKSC) ने “फासीवाद क्या है और उसका सामना कैसे करें?” के विषय पर कार्यशाला आयोजित की। 

इस कार्यशाला का उद्देश्य यह था की वैचारिक रूप से फासीवाद को चुनौती देने के लिये श्रमिक वर्ग की चेतना बढ़ाना आवश्यक हैं । कार्यशाला के प्रतिभागीयों ने कॉमरॅड जॉर्जी डमिट्रोव के दो आलेख पढ़े थे – 

1) फासीवाद के खिलाफ श्रमिक वर्ग की एकता और 

(2) फासीवादी आक्रामक और फासीवाद के खिलाफ मजदूर वर्ग के संघर्ष में कम्युनिस्ट इंटरनेशनल के कार्य।

ग्रीन पार्टी के सदस्य, सुश्री नसीम नूरी ने ग्रीन पार्टी  के 10 प्रमुख मूल्यों के साथ शुरुआत की। फिर उन्होंने ये जाहिर किया की सामाजिक न्याय और लोकतंत्र का अटूट युग्म है। उन्होंने दुनिया भर में लोकतंत्रों को अस्थिर करने और विशेष रूप से लैटिन अमेरिका में तानाशाही स्थापित करने में अमेरिका के साम्राज्यवादी हस्तक्षेपों के इतिहास को समझाया। उन्होंने कहा कि वेनेजुएला में अमेरिका का हालिया हस्तक्षेप सिर्फ पूंजीवादी वर्ग के हित में है। उन्होंने यह भी कहा कि 1990 के दशक से लैटिन अमेरिका की समाजवादी सरकारों ने भूमि और आर्थिक सुधार किए हैं जो कि स्वदेशी आबादी और मजदूर वर्ग के अधिकांश लोगों को दिए गये हैं। ये सुधार ह्यूगो शावेज, राफेल कोरीया, इवो मोरालेस, लूला, किरचनर्स, जोस मुजिका, मिशेल बाचेलेट के नेतृत्व में किये गये थे। नूरी जी के भाषण का वीडियो इस लिंक पे सुलभ है – https://www.facebook.com/groups/1249573841788059/permalink/2106373632774738/

श्री मणि एम मणिवन्नन, जो एक प्रसिद्ध तमिल और भारतीय विद्वान हैं, ने आपातकाल विरोधी जनसंघ को दक्षिणपंथी हिंदुत्व भारतीय जनता पार्टी में बदलने की बात की। उन्होंने जून 1975 और मार्च 1977 के बीच भारतीय आपातकाल अवधि के दौरान दक्षिण भारत में हिंदुत्व बलों के सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक घुसपैठ के बारे में बताया। मणिजी ने जोर दिया कि आगामी चुनावों में भाजपा / आरएसएस को हराने के लिए एक हिंदुत्व विरोधी गठबंधन की आवश्यकता होगी। मणिजी के भाषण का वीडियो इस लिंक पे सुलभ है – https://www.facebook.com/groups/1249573841788059/permalink/2106408119437956/

aksc 2

अनाकबायान के श्री माइकल परडेला ने साम्राज्यवादियों द्वारा पालित एक फासीवादी राष्ट्रीय पूंजीपति वर्ग के तहत फिलीपींस की पीड़ा का इतिहास दिया। अनाकबायान एक कैलिफोर्निया आधारित संगठन है जो फिलीपींस मूल के लोगों को संगठित कर रहा है। उन्होंने 1960 के दशक में तानाशाह फर्डिनेंड मार्कोस के उदय और 1972 में मार्कोस के शासन के एकमुश्त भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों के विरोध के बारे में बात की।  काबातांग माकाबायान और कम्युनिस्ट पार्टी के मार्गदर्शन में छात्रों, श्रमिकों, किसानों और युवाओं ने जन आंदोलनों में भाग लिया। 

माइकल जी के भाषण का वीडियो इस लिंक पे सुलभ है –https://www.facebook.com/groups/1249573841788059/permalink/2106457459433022/

 

प्रतिभागियों ने उत्साह से चर्चा में भाग लिया। AKSC के एस कार्तिकेयन ने चर्चा को मॉडरेट किया। प्रतिभागियों ने वास्तविक मुद्दे पर वास्तविक समझ विकसित करने के लिए अधिक कार्यशालाओं का आयोजन करने की आवश्यकता व्यक्त की।

~~~

 

[Karthikeyan Shanmugam (कार्तिकेयन शन्मुगन) द्वारा]

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *